फेमस टेलीविजन प्रजेंटेटर, फिल्म निर्माता, थियेटर कर्मी एवं बाॅलीवुड अभिनेता विनय पाठक एक की पहचान उनकी बेजोड़ टाइमिंग और काॅमिक रोलों की वजह से है। ‘खोसला का घोसला’, ‘भेजा फ्राई’, ‘जानी गद्दार’ जैसी कई क्रिटिकली अक्लेम्ड फिल्मों में काम कर चुके विनय पाठक पिछले दिनों अपनी आनेवाली फिल्म ‘डार्क ब्रेव’ की वीआईपी स्क्रीनिंग के सिलसिले में दिल्ली में थे। इस फिल्म का प्रीमियर पीवीआर साकेत में हुआ था, जहां विनय पाठक के साथ फिल्म की दोनों लीड अभिनेत्रियां शीतल ठाकुर और शिबानी बेदी भी उपस्थित थीं।

स्क्रीनिंग में विनय पाठक ने मीडिया के साथ बातचीत भी की और इस फिल्म के लिए वे वास्तव में बहुत उत्साहित नजर आए। मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने फिल्म ‘डार्क ब्रेव’ में काम करने के अनुभवों और इसकी खासियत के दौरान अपने अनुभव को साझा किया। विनय के अनुसार, यह फिल्म टाटास्काई और यू-ट्यूब पर प्रदर्शित की जाएगी।

आकाश गोइला द्वारा निर्देशित और वेयरवोल्फ फिल्म्स द्वारा निर्मित ‘डार्क ब्रेव’ डार्क ह्यूमर की शैली पर आधारित है और इसकी कहानी नायक के दुविधा के आसपास घूमती है, जो एक सपने से शुरू होती है। कहानी के अनुसार, फिल्म का नायक (विनय पाठक) ने अपने सपने में यह देखा है कि उनकी पत्नी ने उसे दूसरी महिला के साथ दो बार पकड़ लिया है। सपने में वह यह भी सीखता है कि उसकी पत्नी ने इस प्रक्रिया में उसे मारने का प्लॉट तैयार किया है। और जब वह जागता है, तो वह जानता है, तो उसे अहसास होता है कि वह अभी भी जीवित है। हालांकि, इसके बावजूद उस सपने का असर इतना प्रभावशाली है कि वह दृढ़ता से विश्वास करना शुरू कर देता है कि उसकी पत्नी वास्तव में उसे मार डालेगी।