नई दिल्ली। ‘आओ साथ चलें’ संस्था के राष्ट्रीय संयोजक विष्णु मित्तल के द्वारा कोरोना  संकट को देखते हुए दिल्ली, फरीदाबाद, गुड़गांव, नोएडा, ग्रेटर नोएडा एवं कौशांबी के इलाकों में लगातार विगत 20 दिनों से राशन एवं घर का सामान उन जरूरतमंदों तक पहुंचाया जा रहा है। जो वास्तव में जरूरतमंद हैं। दिल्ली एनसीआर में

दिहाड़ी मजदूर, रिक्सा, टेम्पू, रेहड़ी पटरी, खोखा लगाकर जीवन जीने वाले लोग आज काफी संकट में है। कई मीडियाकर्मी भी इस संकट से जूझ रहे हैं। लॉक डाउन के चलते उन्हें भारी संकट का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में उक्त संस्था ने मदद का हाथ इनकी ओर बढ़ाया है।

स्कूलों में खाना वितरण के दौरान लंबी लाइन के चलते लोग वहां जाने से कतराते हैं। उन्हें डर होता है कि कहीं कोई कोरोना पॉजिटिव न मिल जाए। जो लोग परिवार और बच्चों के साथ हैं उन्हें खासी परेशानी हो रही है। ऐसे में संस्था सम्मान के साथ लोगों के घर जाकर लगातार राशन पहुंचाने का काम कर रही है।

पूर्वी दिल्ली में हरिओम गुप्ता, समाजसेवी राकेश कुमार, अशोक ओबेराय, निकुंज बंसल, लक्ष्मण चौधरी, ओमप्रकाश  पश्चिमी दिल्ली में राजकिशोर राय, बृज किशोर राय, उत्तरी दिल्ली में संजीव गोयल, सोनु मित्तल फरीदाबाद में विकास राय, नरेंद्र कुमार ग्रेटर नोएडा में जयकांत वत्स आदि लोग मिलकर इस कार्य को कर रहे हैं। अभी तक दो हजार से ऊपर परिवारों को घर का राशन पहुंचाया जा चुका है, संस्था के  राष्ट्रीय संयोजक विष्णु मित्तल का कहना है कि हम अपने लिए नहीं अपनों के लिए जीते हैं और अपने वे हैं जो पीड़ित, शोषित और अपेक्षित हैं। मित्तल ने टीम के सदस्यों को खास निर्देश दिया है कि दिव्यांग जन, बुजुर्ग, बीमार, गर्भवती मां एवं विधवाओं का खास ध्यान रखा जाय।