नई दिल्ली। “यश डांस एकेडमी” द्वारा, सोमवार को हार्ट बीट डांस प्रतियोगिता का आयोजन, दिल्ली के मुक्ताधारा ऑडिटोरियम में किया गया। यश डांस एकेडमी के सीजन 6 में भाग लेने वाले 5 वर्ष के बच्चों से लेकर बड़ो तक यानी हर उम्र के दीवानों का जबरदस्त हुआ मुकाबला।

डांस के कैरियर के क्षेत्र में हर उम्र के उभरते कलाकार आ रहे है। उनमें जोश लाने के लिए “यस डांस एकेडमी” के बॉस यश वर्धन, 2012 से प्रतियोगिताओं का कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं। मुकाबले का यह सीजन 6 था, 2019 के प्रतियोगिता में बच्चों से लेकर बड़ो तक ने बड़े उत्साह से बढ़चढ़कर हिस्सा लिया।

इस मुकाबले में जीतने वाले डांस कलाकारों के लिए, ट्रॉफी व सर्टिफिकेट एवं 10 हजार रुपये इनाम के रखे गए थे। डांस में हिस्सा लेने वाले कलाकारोंं में “जूनियर सोलो ग्रुप”  “सीनियर सोलोग्रुप” और “सुपर मोम ग्रुप” की ये अलग-अलग डांस टीमें थी। डांस में छोटे प्यारे नन्हे मुन्ने बच्चों ने भी बहुत ही अच्छा प्रदर्शन किया। हॉल में आये सभी दर्शकों का बच्चों ने दिल जीत लिया।

वही बडे बच्चों ने भी अपनी पसंद के गानों में हिप हॉप, कंटेमपरी, आदि प्रकार के डांस फॉमस किया गया। और बच्चों के साथ- साथ ममियों ने भी अपनी डांस कला हुनर का प्रदर्शन किया। इस कार्यक्रम की सबसे आकर्षण का केंद्र रही, जूनियर केटेगिरी की बाल कलाकार दिव्यांग होने के बाबजूद भी डांस में अपनी कला दिखाने से जरा भी नहीं हिचकी।

इनाम जीतने वालो में जूनियर से कुमकुम ने पहला इनाम तो वहीं पुनीत ने दूसरा इनाम जीता।

सीनियर्स से कुनाल ने पहला स्थान पर रहे। और कुलदीप, दूसरे स्थान पर रहे।

वहीं डांस ग्रुप में कुमकुम और कुणाल ने प्रथम पुरस्कार जीता। मम्मियों में सुपर मम्मी का ख़िताब अनु गुप्ता ने जीत कर अपने नाम किया।

डांस प्रतियोगिता को स्पॉन्सर करने वाले S.K. वर्मा जी ने कहा की जिस तरह बच्चों में शिक्षा का विकास होता है। उसी तरह उनमें कला का विकास भी होना चाहिए और इस तरह की प्रतियोगिताएं बच्चों में एक नय़ा जोश व उत्साह पैदा करता है। वहीं डांस एकेडमी  चला रहे। यश वर्धन,ने बताया की वह उन बच्चों की भी हरसम्भव मदद करते है। जिनके पास डांस कला तो होती है पर वह फीस देने में असमर्थ होते हैं।