अयोध्‍या।शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपने बेटे आदित्‍य ठाकरे और 20 सांसदों के साथ रविवार को अयोध्‍या में रामलला के दर्शन किए। रामलला के दर्शन के बाद उद्वव ठाकरे ने कहा, ‘हमारी मांग है कि कानून बनाकर अयोध्‍या में राम मंदिर का निर्माण केंद्र सरकार करवाए।’ उन्‍होंने विश्‍वास जताया कि जल्‍द से जल्‍द राम मंदिर बनेगा। शिवसेना अध्‍यक्ष ने कहा कि उन्‍हें पूरा भरोसा है कि मोदी सरकार अबकी बार राम मंदिर का निर्माण कराएगी।
अयोध्‍या में संवाददाताओं के साथ बातचीत में उद्धव ने कहा, ‘अभी मामला अदालत में है। केंद्र में मजबूत सरकार भी है और हम उनके साथ हैं। मोदी जी के पास फैसला लेने का साहस है। यदि सरकार राम मंदिर बनाने का फैसला लेती है तो फिर कोई इसे नहीं रोक सकता।’
शिवसेना चीफ ने कहा, ‘राम मंदिर बनकर रहेगा। हमारे लिए राम मंदिर चुनावी मुद्दा नहीं है। मैं अयोध्या आता रहूंगा और मंदिर भी जल्द बनेगा। अयोध्या ऐसी जगह है जहां बार-बार आने का दिल करता है और पता नहीं आगे कितनी बार आऊंगा।’ उन्होने कहा कि पिछले अयोध्या दर्शन में मैंने कहा था कि लोकसभा चुनाव के बाद अपने सांसदों के साथ रामलला के दर्शन करने आऊंगा और उसी क्रम में मैं यहां आया हूं। अब रामलला के दर्शन करने के बाद शिवसेना सांसद संसद में सोमवार से नई पारी शुरू करेंगे।
एक सवाल के जवाब में उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘बालासाहब यही चाहते थे की सब हिंदू एक हो जाएं और हिंदुओं की एकता कायम रहें, इसलिए हमने महाराष्ट्र के बाहर चुनाव नहीं लड़ा।’ इससे पहले शिवसेना के 20 सांसदों के साथ उद्धव ठाकरे ने रामलला के किए दर्शन किए। लोकसभा चुनाव में शिवसेना के 18 एमपी चुनकर आए हैं। इसके अलावा, राज्यसभा में पार्टी के दो सांसद हैं।