गुरुवार को खेले जाने वाला विश्व कप का 18वां मुकाबला खराब मौसम के चलते रद्द हो गया। नॉटिंघम के ट्रेंटब्रिज मैदान में रुक.रुककर हो रही लगातार बारिश के चलते मैदान बेहद गीला था, इसलिए भारतीय समयानुसार शाम 7:30 बजे मैच को रद्द करने की अधिकारिक घोषणा कर दी गई। बारिश के कारण बिना टॉस हुए ही मैच रद्द करना पड़ा। दोनों टीम के बीच 1.1 अंक बांट दिए गए। न्यूजीलैंड के चार मैचों में सात अंक है जबकि भारत के तीन मैचों में पांच अंक हैं। भारत को अब रविवार को मैनचेस्टर में पाकिस्तान से खेलना है। पिच सूखने के लिए सूरज निकलना जरूरी बारिश होने के चलते मैदान काफी गीला था। हालांकि ट्रेंट ब्रिज का ड्रेनेज सिस्टम काफी बेहतर है, लेकिन मैदान काफी ज्यादा गीला था।

ऐसे में धूप नहीं होने के चलते मैदान को सूखने का समय कम मिलाए जो खेल के लिहाज से सुरक्षित भी नहीं था। मैदानी परिस्थितियां खेल के अनुकूल नहीं थी। यही कारण था कि मैच अधिकारियों ने खिलाड़ियों की सुरक्षा को खतरा देखते हुए बिना कोई गेंद फेंके ही मुकाबला रद्द कर दिया। खराब मौसम के कारण आज टॉस में विलंब हुआ और आखिर में टॉस हो ही नहीं सका। भारतीय समयानुसार दोपहर तीन बजे पिच का मुआयना होना थाए लेकिन बारिश फिर शुरू होने के कारण इसे टाल दिया गया। पिछले दो दिन से भारी बारिश के कारण आउटफील्ड गीली थी। अंपायर्स ने शाम साढे सात बजे मुआयना करने के बाद मैच रद्द करने का फैसला किया। दोनों टीमों के बीच अंक बंट गए और रिजर्व दिवस नहीं होने से मैदान पर भारी तादाद में जमा दर्शकों को काफी निराशा हुई। इनमें अधिकांश भारतीय थे।

मैच में अगर एक भी गेंद नहीं फेंकी जाए तो आईसीसी टिकट का पैसा वापिस दे देती हैए लेकिन तीसरे पक्ष से महंगे दाम में टिकट लेने वाले दर्शकों को काफी नुकसान होगा। इस टूर्नामेंट में यह चौथा मैच है जो बारिश की नजर हुआ। निश्चित तौर पर आईसीसी की चिंता इससे बढ गई होगी। इसके पहले 4 जून को कार्डिफ में श्रीलंका-अफगानिस्तान के मैच के लिए 41.41 ओवर ही निर्धारित किए जा सके। 7 जून को ब्रिस्टल में पाकिस्तान और श्रीलंका का मैच रद्द करना पड़ा। इस मैच में तो टॉस तक नही हो पाया। 10 जून को साउथैम्प्टन में साउथ अफ्रीका-वेस्टइंडीज का मैच 7.3 ओवरों से आगे खेला नहीं जा सका। 11 जून को बारिश की वजह से ब्रिस्टल में श्रीलंका और बांग्लादेश मुकाबले का टॉस हो नहीं पाया है और यह मैच भी बारिश की भेंट चढ़ गया।